Ajmera Fashion Success Story : 1200 से नौकरी शुरू करने वाला आज जिसकी चर्चा बिसनेस स्टैण्डर्ड और Forbes जैसी नामी बिजनेस मैगजीन में भी हो चुकी है

 

सूरत के सबसे बड़े textile manufacturer; Ajmera Fashion के Founder & CEO Mr. Ajay Ajmera की जो आज भारत की टेक्सटाइल इंडस्ट्री का एक चमचमाता हुआ सितारा बन चुके हैं.

टेक्सटाइल इंडस्ट्री का लगभग हर बड़ा अवार्ड जीत चुके, हज़ारों घरेलु महिलाओं को आर्थिक आज़ादी दिला चुके और फोर्ब्स जैसी दुनिया की जानी-मानी मैगजीन में फीचर हो चुके अजय अजमेरा की कहानी एक साधारण परिवार में जन्मे उस बच्चे की कहानी है जिसने अभावों भरी ज़िन्दगी जीते हुए भी बड़े सपने देखना नहीं छोड़ा और अपनी ज़िद्द और कभी हार ना मानने वाले attitude से अपने सपनो को हकीक़त बना कर दम लिया

टेक्सटाइल मार्केट की बारीकियों को समझने के लिए अजय जी ने दिन-रात मेहनत की. एक मामूली ब्रोकर के रूप में काम शुरू करने वाले अजय की लगन और प्रतिभा देख कर एक बड़ी टेक्सटाइल कम्पनी ने उन्हें अपने यहाँ जॉब पर रख लिया. हर काम में अपना 100% देने वाले अजय जी ने यहाँ भी अपनी अलग पहचान बना ली और देखते-देखते उनकी सैलरी 2 लाख रु प्रति माह तक पहुँच गई.

वो था साल 2011. आज के समय में भी 2 लाख रु बहुत मायने रखते हैं और 10 साल पहले इसकी क्या वैल्यू रही होगी आप सोच सकते हैं.

इतने पैसे, इतना रुतबा, क्या कुछ नहीं अचीव कर लिया था अजय जी ने… लेकिन कमी थी तो उस सपने की जो उन्होंने सूरत की धरती पर खड़े होकर देखा था… सपना सूरत की टेक्सटाइल इंडस्ट्री का सबसे कामयाब entrepreneur बनने का.

जाहिर है कोई आम इंसान इतना अचीव करने के बाद इसी से संतुष्ट होकर अपनी बाकी की ज़िन्दगी आराम से काट देता….लेकिन अजय जी  किसी और ही मिटटी से बने थे…

हज़ारों महिलाओं को बनाया आत्मनिर्भर

कभी खुद गरीबी के दंश को बेहद करीब से महसूस कर चुके अजय जी ने हज़ारों महिलाओं को गरीबी के चक्र से बाहर निकाल कर  women empowerment through social entrepreneurship की एक मिसाल  पेश की, जिसके लिए उन्हें “Champions of Change” award से सम्मानित भी किया गया.

बेहद कम दाम पर आर्थिक रूप से कमजोर महिलाओं को अपनी फैक्ट्री में बना माल उपलब्ध करा कर उन्हें घर से ही Garment Business शुरू करने के लिए मोटिवेट करने वाले अजय जी भारत के कोने-कोने से आने वाली 5000 से भी अधिक महिलाओं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बना चुके हैं.

इनमे से बहुत सी महिलाएं आज अपने घर की main earning member हैं और कई महिलाओं ने घर से शुरुआत करने के बाद अपनी दुकानें और showrooms भी खोल लिए हैं.

घर से साड़ियों का बिजनेस करने का आईडिया अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचे इसके लिए उन्होंने खुद  Youtube पर साड़ियों का बिजनेस शुरू करने से सम्बंधित बहुत से videos publish किये, जिसे लाखों बार देखा जा चुका है. In fact आज अजमेरा फैशन के YouTube चैनल पर 2 लाख से अधिक subscribers हो चुके हैं.

अगर आप भी उनसे गाइडेंस लेकर Women’s , Men’s या Kids Wear का बिजेनस शुरू करना चाहते हैं तो आप इस नंबर पर कांटेक्ट कर सकते हैं.

Ajmera Fashion के बिजनेस को बढ़ाया बल्कि –

  • Ajmera Digital
  • Anmazing Factory
  • Ajmera Retail

जैसी तीन और profitable कम्पनियां खड़ी कर दी.

एक सोच से शुरू हुए अजमेरा ग्रुप में आज 400 से अधिक लोग काम करते हैं.

सीकर की गलियों से निकला अजय आज सूरत का टेक्सटाइल किंग अजय अजमेरा बन चुका है… लेकिन मेरी नज़र में बड़ी बात ये नहीं है …. बड़ी बात ये है कि बिजनेस को जरिया बना कर  अजय जी ने सिर्फ अपनी ही ज़िन्दगी नहीं बदली बल्कि अपने साथ-साथ लाखों और ज़िंदगियाँ भी बदल डालीं.

इसी विश्वास के दम पर अजय अजमेरा ने  Indian Textile Industry का लगभग हर बड़ा अवार्ड  जीतते हुए अजमेरा फैशन को भारत का लीडिंग साड़ी manufacturer बना दिया, जिसका  कारोबार दुनिया भर के 30 से अधिक देशों में फैला हुआ है और जिसकी चर्चा बिसनेस स्टैण्डर्ड और Forbes जैसी नामी बिजनेस मैगजीन में भी हो चुकी है.

Leave a Comment